महबूबा मुफ्ती 3 साल के लिए फिर से बनी पीडीपी की अध्यक्ष

महबूबा मुफ्ती 3 साल के लिए फिर से बनी पीडीपी की अध्यक्ष

सोमवार को जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को सर्वसम्मति से 3 साल के कार्यकाल के लिए पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) का अध्यक्ष चुना गया।

पूर्व जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती का नाम वरिष्ठ नेता गुलाम नबी लोन हंजुरा और खुर्शीद आलम द्वारा प्रस्तावित किया गया जिसके बाद सोमवार को मुफ़्ती फिरसे पीडीपी की अध्यक्ष बनी।

जम्मू-कश्मीर पीडीपी ने सोशल मीडिया पर घोषणा की। पार्टी के आधिकारिक हैंडल ने लिखा, “महबूबा मुफ्ती को तीन साल की अवधि के लिए @jkpdp अध्यक्ष के रूप में सर्वसम्मति से फिर से चुना गया। उनका नाम वरिष्ठ नेताओं श्री जी एन एल हंजुरा और दूसरा श्री खुर्शीद आलम द्वारा प्रस्तावित किया गया था। वरिष्ठ नेता श्री ए आर वीरी पार्टी चुनाव बोर्ड के अध्यक्ष थे।“

पार्टी चुनाव बोर्ड के अध्यक्ष वरिष्ठ पीडीपी नेता अब्दुल रहमान वीरी थे। वरिष्ठ नेता सुरिंदर चौधरी चुनाव के लिए रिटर्निंग ऑफिसर थे।

महबूबा ने फिर से अध्यक्ष चुने जाने के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और कहा, “पीडीपी एक आंदोलन है जिसने जम्मू और कश्मीर के लोगों की गरिमा और सम्मान बहाल किया है।“

पुन: निर्वाचित राष्ट्रपति के अनुसार पीडीपी ने “लोकतंत्र और लोकतांत्रिक संस्थानों में लोगों के विश्वास” को पुनर्जीवित किया है।

उन्होंने सत्तारूढ़ राष्ट्रीय सम्मेलन के खिलाफ भी तीखी टिप्पणी की और कहा कि अब “भ्रष्टाचार ने सभी हदें पार कर दी हैं और राज्य में कोई शासन नहीं है।”

1998 में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) का गठन महबूबा के पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद ने किया था। पार्टी का गठन राष्ट्रीय सम्मेलन के एक क्षेत्रीय विकल्प के रूप में किया गया था। जनवरी 2016 में उनके पिता के निधन के बाद महबूबा 2016 से पीडीपी अध्यक्ष बनी। हालांकि पार्टी पिछले दो दशकों के दौरान अच्छी तरह से फल-फूल रही है और बहुत ताकत हासिल की है, लेकिन यह पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार के बाद विभाजन के कगार पर था।

एक तरफ कई राजनीतिक दिग्गज पार्टी में शामिल हुए, लेकिन दूसरी ओर कई प्रमुख सदस्यों सहित कई प्रमुख नेताओं ने पिछले दो वर्षों में छोड़ दिया है। फिर भी महबूबा पार्टी पर अपनी पकड़ बनाए रखने में कामयाब रही हैं।

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )