भारत, चीन के सैनिकों के बीच उत्तरी सिक्किम में फिर हुई झड़प

भारत, चीन के सैनिकों के बीच उत्तरी सिक्किम में फिर हुई झड़प

पिछले हफ्ते उत्तर सिक्किम में भारतीय और चीनी सेना आमने-सामने आए। सैनिकों की बीच झड़प हुई जिसके बाद दोनों पक्षों के सैनिक घायल हो गए। विकास से परिचित अधिकारियों ने सोमवार को झड़प के बारे में बताया।

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनावपूर्ण सीमा गतिरोध के चलते, उत्तरी सिक्किम के नाकू ला में एक और आक्रामक टकराव हुआ। नाकू ला 5,000 मीटर से अधिक की ऊंचाई पर एक दर्रा है। दोनों देशों के सैनिक एक शारीरिक झड़प में शामिल थे।

अधिकारियों ने कहा, “चीनी सैनिकों द्वारा भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करने के प्रयास के बाद झड़प शुरू हुई।”

सूत्रों के अनुसार, 3 दिन पहले, एक चीनी टुकड़ी के गश्ती दल ने भारतीय क्षेत्र में घुसने का प्रयास किया। भारतीय सैन्य कर्मियों ने चीनी पीएलए घुसपैठ को रोक दिया। परिणामस्वरूप, सिक्किम में सीमा पर दोनों सेना की झड़प हो गयी। कई चीनी पीएलए सैनिक घायल हो गए और कुछ भारतीय सैनिक भी घायल हुए।

हालांकि अभी तक इस घटना पर कोई आधिकारिक शब्द नहीं आया है, लेकिन सेना से जल्द ही इस मामले पर आधिकारिक बयान जारी करने की उम्मीद है।

चीनी पीएलए ने घुसपैठ का प्रयास तब किया जब रविवार को कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता का नौवां दौर आयोजित किया जा रहा था।

यह पहली बार नहीं है कि पूर्वी क्षेत्र में इस तरह की घटना हुई है। 9 मई, 2020 को, नकु ला में भारत-चीन सीमा पर सैनिकों का भयंकर आमना सामना हुआ। इसके बाद दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई। इस टकराव के दौरान चार भारतीय सैनिकों और सात चीनी सैनिकों को चोटें आईं जिनमें लगभग 150 सैनिक शामिल थे।

लद्दाख सेक्टर में सीमा रेखा पर प्रतिद्वंद्वी सैनिक कम से कम 4 ऐसे झड़पों में शामिल रहे हैं। लद्दाख में अभी भी स्थिति तनावपूर्ण है। जारी सैन्य वार्ता और कूटनीतिक संवाद अभी भी कोई सकारात्मक परिणाम नहीं दे पाए हैं।

रविवार को, भारतीय और चीनी सेनाओं ने एलएसी के चीनी पक्ष में मोल्दो में कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता का एक और दौर आयोजित किया। यह क्षेत्र में तनाव कम करने के उद्देश्य से किया गया था।

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )