बेंजामिन नेतन्याहू ने इजरायल मैं बिना बहुमत के सरकार बनाने की  करेंगे कोशिश

बेंजामिन नेतन्याहू ने इजरायल मैं बिना बहुमत के सरकार बनाने की  करेंगे कोशिश

इजरायल में प्रधानमंत्री पद का चुनाव हुए एक हफ्ते से ज्यादा हो गया है लेकिन अभी तक नई सरकार नहीं बन पाई है. आम चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है, इस बीच अब इजरायली राष्ट्रपति रेव्यून रिव्लिन ने बेंजामिन नेतन्याहू को नई सरकार बनाने की कोशिश करने को कहा है.

इजरायली राष्ट्रपति ने मौजूदा प्रधानमंत्री से कहा है कि वह सरकार बनाने के लिए जरूरी नंबरों की संभावनाओं को तलाशें, इसके लिए चाहे विपक्षी पार्टी के नेता बैनी गैंट्ज़ से बात भी करें. राष्ट्रपति के द्वारा ये कदम तब उठाया गया है जब बेंजामिन नेतन्याहू और बैनी गैंट्ज़ के बीच साझा सरकार बनाने की कोशिशें विफल हो गई थीं.

राष्ट्रपति कार्यालय का आदेश आने के बाद बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि हमारी कोशिश होनी चाहिए कि हम एक साझा सरकार बनाएं, देश की सुरक्षा-एकता के लिए ये जरूरी है. हर किसी को पता है कि इसके बाद दोबारा मौका नहीं मिलेगा, वरना फिर हमें चुनाव में जाना पड़ेगा.

हालांकि, बेंजामिन नेतन्याहू की इन कोशिशों से बैनी गैंट्ज़ इत्तेफाक नहीं रखते हैं. उन्होंने कई बार पहले भी नेतन्याहू की साझा सरकार की नीति का विरोध किया है और वह खुद को बेहतर उम्मीदवार बता चुके हैं.

आपको बता दें कि 17 सितंबर को हुए चुनाव में मौजूदा प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की लिकुड पार्टी को 31 सीटें, विपक्षी दल के नेता बैनी गैंट्ज़ की पार्टी को 33 सीटें मिली हैं. ऐसे में अगर जल्द ही सरकार का गठन नहीं होता है, तो राष्ट्रपति की ओर से एक बार फिर चुनाव का आदेश दिया जाएगा. यानी इज़रायल एक साल में तीसरी बार आम चुनाव की कगार पर खड़ा है

इजरायल में सरकार बनाने के लिए कुल 61 सीटें चाहिए लेकिन दोनों पार्टियां अपने गठबंधनों के साथ भी 50 के आंकड़े तक पहुंच पाई हैं. इनके अलावा कुछ छोटी पार्टियां हैं जिनके पास ऐसे नंबर हैं जो सरकार बनाने में किंगमेकर हो सकती हैं, इन्हीं में से एक एविग्डोर लिबरमैन की पार्टी के पास अभी 8 सीटें हैं जो सरकार का रुख तय कर सकती है.

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )