डोनाल्ड ट्रंप के सामने पीएम मोदी ने PAK को जमकर घेरा कहा पहले आतंकवाद पर हो कार्रवाई

डोनाल्ड ट्रंप के सामने पीएम मोदी ने PAK को जमकर घेरा कहा पहले आतंकवाद पर हो कार्रवाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से बातचीत में पाकिस्तान को जमकर घेरा. पीएम मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप से कहा कि हमें पाकिस्तान से बातचीत में कोई गुरेज नहीं है, लेकिन आतंकवाद को लेकर पहले उससे कार्रवाई करना होगा. हमें अब तक उनकी ओर से ऐसा कोई प्रयास नहीं दिखा है. दोनों नेताओं के बीच हुई मुलाकात के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये जानकारी दी.

विजय गोखले ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने ट्रंप के सामने आतंकवाद के मुद्दे पर भारत का दृष्टिकोण रखा. राष्ट्रपति ट्रंप ने भी स्वीकार किया और कहा कि यह एक चुनौती है जिसका हम दोनों सामना करते हैं. विदेश सचिव के मुताबिक, पीएम मोदी ने राष्ट्रपति ट्रंप से कहा कि दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी मुस्लिम आबादी भारत में रहती है, लेकिन हमारे यहां कट्टरता का स्तर बेहद कम है.

पीएम मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप से कहा कि हम बातचीत से नहीं भाग रहे हैं. हमने 2014 में अपने शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को बुलाया था. फिर हम उनके बुलावे पर बिना कुछ सोच-समझे बिना दिसंबर 2015 में लाहौर चले गए. इन प्रयासों के बाद भी हमें जवाब में उरी और पठानकोट में आतंकी हमलों का तोहफा मिला. हम 30 साल से आतंकवाद की समस्या से लड़ रहे हैं. आतंकवाद के चलते 42,000 जानें जा चुकी हैं.
पीएम मोदी के साथ द्विपक्षीय मुलाकात के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब अमेरिकी राष्ट्रपति से अलकायदा और पाकिस्तान पोषित आतंकवाद पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस्लामिक आतंकवाद से निपटने में सक्षम हैं. भारत और पाकिस्तान मिलकर विवाद सुलझा सकते हैं. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मुझे खुशी होगी अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रधानमंत्री इमरान खान एकजुट होकर कश्मीर पर काम करें.

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )