जानिये टीम इंडिया का नया हेड कोच किसे बनाया गया?

जानिये टीम इंडिया का नया हेड कोच किसे बनाया गया?

शुक्रवार शाम टीम इंडिया के नए हेड कोच का नाम घोषित कर दिया गया है. कपिल देव ने इस बात का खुलासा किया है कि रवि शास्त्री ही मुख्य कोच रहेंगे. कपिल देव ने बताया कि उन्होंने कोच का चयन कोचिंग स्किल्स, अनुभव, खिलाड़ी के साथ ताल-मेल आदि का ध्यान रखते हुए किया है.

आपको बता दे कि रवि शास्त्री 2014 से 2016 तक टीम इंडिया के डायरेक्टर रह चुकें है, जिसके अंतर्गत भारतीय टीम ने 63% मैच जीते. इस बार विश्व-कप हारने के बाद उनके कोच बनने की उम्मीद कम दिखाई दे रही थी लेकिन टीम के कप्तान विराट कोहली की पहली पसंद है रवि शास्त्री. इस बात पर कपिल देव का कहना है कि कोच को चुनने के लिए कप्तान से कोई सलाह नहीं ली गयी है.

इस बार कोच के तीन उम्मीदवार थे (ऑस्ट्रेलिया के टॉम मूडी, न्यूजीलैंड के माइक हेसन और रवि शास्त्री). कविल देव ने बताया कि तीनों उम्मेदारों में तगड़ा कम्पीटीशन था. तीनों ने ही बहुत अच्छा प्रदर्शन दिया था और तीनों के अंकों में ज्यादा अंतर भी नहीं था. शास्त्री का चयन इसलिए हुआ क्यूंकि वो मौजूदा कोच है. 2017 से टीम इंडिया को रवि शास्त्री ने बखूबी संभाला है. उन्हें टीम की सभी बारीकियों के बारे में अच्छी तरह पता है. अंशुमान गायकवाड़ का कहना है कि ऐसे में अन्य कोच को चुनना मतलब सब शुरू से चीजें शुरू करना.

क्रिकेट सलाहकार समिति की भारतीय टीम के कोच के तौर पर न्यूजीलैंड के माइक हेसन दूसरी पसंद थे, ऑस्ट्रेलिया के टॉम मूडी तीसरी पसंद थे. लेकिन सभी बातों पर ध्यान रखते हुए रवि शास्त्री ही सबकी पहली पसंद बनी. सीएसी जिसमें कपिल देव, अंशुमान गायकवाड जो भारतीय टीम के पूर्व ओपनर रह चुके है और शांता रंगास्वामी जो महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान है शामिल है. इन तीनों ने मिलकर इंटरव्यू के माध्यम से कोच के लिए 6 नाम शोर्टलिस्ट किये थे. वो 6 नाम है लाल चंद राजपूत, रोबिन सिंह, माइक हेसन, रवि शास्त्री, टॉम मूडी, फिल सिमंस. फिल सिमंस ने लास्ट में अपना नाम वापस ले लिया था. ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया को पहली बार टेस्ट सीरिज में जीत दिलाई रवि शास्त्री ने, जिसके कारण उनका इन 6 उम्मीदवारों में पलड़ा भारी रहा और उन्हें दोबारा कोच बनने का मौका मिला.

Share This

COMMENTS

Wordpress (1)
  • Sorav jain 2 years

    Shastri deserves to be a head coach. 

  • Disqus (0 )