जकार्ता: गंभीर मॉनसून भाड़ का सामना कर रही है इंडोनेशिया की राजधानी

जकार्ता: गंभीर मॉनसून भाड़ का सामना कर रही है इंडोनेशिया की राजधानी

शनिवार को जकार्ता में कई इलाकों में बाढ़ के कारण एक हजार से अधिक लोग अपने घरों से भागने को मजबूर हो गए। देश की मौसम विज्ञान एजेंसी ने चेतावनी दी है कि अगले सप्ताह तक इसे जारी रखने के लिए परिस्थितियाँ निर्धारित की गई थीं।

इस तस्वीर में जकार्ता, इंडोनेशिया में 20 फरवरी, 2021 को भारी बारिश के बाद बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र में पानी के माध्यम से आदमी अपनी मोटरबाइक को धक्का देता दिखाई दे रहा  है। अंतरा फोटो / एपिलियो अकबर / REUTERS

जकार्ता की आपदा न्यूनीकरण एजेंसी के कार्यवाहक प्रमुख, सबदो कुर्नाटिओ के अनुसार, लगभग 1,380 जकार्ता निवासियों को शहर के दक्षिणी और पूर्वी क्षेत्रों से निकाला गया था, जब कुछ क्षेत्रों में बाढ़ का पानी 1.8 मीटर ऊंचा हो गया था। यह शहर 10 मिलियन लोगों का घर है। अब तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है।

बहुत से लोगों ने सोशल मीडिया पर जकार्ता निवासियों के कंधे से ऊँचे गंदे पानी में गुजरते हुए तस्वीरें पोस्ट कीं। कुछ तस्वीरों मे लगभग पूरी तरह से जलमग्न कारों को दिखाया जबकि अन्य ने खोज दल को रबर की नौकाओं में बुजुर्ग निवासियों को जगह खाली करते हुए दिखाया।

इस तस्वीर में 20 फरवरी, 2021 को जकार्ता, इंडोनेशिया में भारी बारिश के बाद बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र में पानी के माध्यम से मनुष्य अपनी साइकिल ले जाता दिखाई दे रहा है। अंतरा फोटो / एपिलियो अकबर / REUTERS

शनिवार को, जकार्ता के गवर्नर अनीस बसवदन ने कहा, “नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, दो सौ पड़ोसी जगहें प्रभावित हुए हैं।” उन्होंने यह भी बताया कि शहर भर में दो दर्जन से अधिक निकासी केंद्र तैयार किए गए हैं।

बसवदन ने कहा, “बारिश बंद हो गई है, लेकिन अन्य क्षेत्रों से पानी अभी भी जकार्ता को प्रभावित कर रहा है। उम्मीद है कि इसने सिटी सेंटर को हिट नहीं किया और जब पानी फिरता है तो लोग अपनी गतिविधियों को फिर से शुरू कर सकते हैं।”

जकार्ता, इंडोनेशिया में 20 फरवरी 2021 को भारी बारिश के बाद बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र में एक होटल के बाहर कार।  यह फोटो अंतरा फोटो द्वारा ली गई है। अंतरा फोटो / वाहु पुत्रो A / REUTERS

बाढ़ ने उस समय शहर को दहला दिया है जब इंडोनेशिया पहले से ही महामारी से निपटने की कोशिश कर रहा है और आर्थिक मंदी का सामना कर रहा है। वर्तमान में कोरोना के मामलों मे यह देश दक्षिण पूर्व एशिया में कोरोना के सबसे अधिक कसेलोद और सबसे अधिक मौतों को दर्ज़ कर रहा है।

इंडोनेशिया की मौसम विज्ञान एजेंसी, बदन मीटिओरोलोगी क्लाइमतलोगी दन गीओफिसिका (बीएमकेजी) ने चेतावनी दी है कि आने वाले दिनों में, जकार्ता में और इसके आसपास के इलाकों मे मौसम की सबसे भारी बारिश हो सकती है। चरम मौसम में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश, गरज के साथ बारिश हो सकती है और अगले हफ्ते भर तक रहने की उम्मीद है।

जकार्ता, इंडोनेशिया में 20 फरवरी, 2021 को भारी बारिश के बाद बाढ़ से प्रभावित एक क्षेत्र में लोग पानी से गुजरते हुए। अंतरा फोटो / वाहु पुत्रो A / REUTERS 

बीएमकेजी के प्रमुख द्विकोरिता कर्णावती ने कहा, “ये महत्वपूर्ण समय हैं जिनसे हमें अवगत होने की आवश्यकता है। जकार्ता और इसके आस-पास के क्षेत्र अभी भी बारिश के मौसम की चरम अवधि में हैं, जो फरवरी या मार्च के अंत तक जारी रहने का अनुमान है।“

बीएमकेजी ने बताया कि अगले चार दिनों तक शहर की घनी आबादी अलर्ट पर रहेगी।

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )