चांद पर जब चंद्रयान-2 उतरेगा तो क्या होगा

चांद पर जब चंद्रयान-2 उतरेगा तो क्या होगा

शनिवार को तड़के भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के वैज्ञानिक रिमोट से चंद्रयान मिशन के विक्रम लैंडर को धीरे-धीरे चंद्रमा पर उतारेंगे.

विक्रम लैंडर चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा. उसे चंद्रमा पर उतरने के लिए ज्वालामुखी के दो गड्ढों के बीच उतरने की जगह चुननी है.

फिर विक्रम लैंडर से प्रज्ञान नाम का रोवर निकल कर चंद्रमा की सतह पर चहलक़दमी करेगा.

चंद्रयान-1 और चंद्रयान-2 मिशन के पूर्व प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉक्टर मयिलस्वामी अन्नादुरै ने बीबीसी हिंदी को बताया कि, ‘चंद्रयान-2 दुनिया के फिर चांद पर जाने की मुहिम की बुनियाद रखने वाला मिशन है. ख़ास तौर से चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर.

चंद्रयान-2 मिशन से जो जानकारियां मिलेंगी, उससे ये हो सकता है कि भविष्य में इंसान चांद के दक्षिणी ध्रुवीय इलाक़े में उतरे.’

अमरीका, रूस और चीन के बाद, भारत चंद्रमा पर किसी अंतरिक्ष यान की सॉफ्ट लैंडिंग कराने वाला चौथा देश होगा.

लेकिन, चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर कोई यान भेजने वाला भारत पहला देश है. अब तक चांद पर गए ज़्यादातर मिशन इसकी भूमध्य रेखा के आस-पास ही उतरे हैं.

 

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )