गोलीकांड के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए समागमों का आयोजन

गोलीकांड के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए समागमों का आयोजन

जतिंदर कुमार. फरीदकोट/कोटकपूरा
*करतारपुर जाने के लिए सिखों पर नहीं होनी चाहिए वीजा की शर्त: सिमरनजीत मान
श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के दोषियों को सजा दिलाने के लिए संघर्षरत सिख संगठनों के धरने पर पुलिस द्वारा की गई गोलीबारी में मारे गए दो सिंहों को आज चार वर्ष बीतने पर सिख संगठनों द्वारा विभिन्न समागमों का आयोजन कर श्रद्धांजलि भेंट की गई तथा शहीदी समागम के रूप में बरसी मनाई गई।
बहबल कलां में पुलिस की गोलियों से मारे गए सिख नौजवान कृष्ण भगवान सिंह व गुरजीत सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए गांव बहबल कलां के गुरुद्वारा टिब्बी साहिब में सिख संगठनों द्वारा मान दल के सिमरनजीत सिंह मान, भाई ध्यान सिंह मण्ड, भाई गुरदीप सिंह भठिंडा आदि के नेतृत्व में श्रद्धांजलि भेंट की गई तथा अरदास की गई। इसके अतिरिक्त गोलीकांड वाले स्थान पर अंकुश धरना देकर अरदास की गई। इस दौरान सिमरनजीत सिंह मान ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने सत्ता में आने से पूर्व श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी करने वाले को अतिशीघ्र गिरफतार करने की बात की थी। लेकिन सत्ता में आते ही सरकार अपने वायदे भूल गई। इस दौरान उन्होंने करतारपुर कॉरिडोर पर बात करते हुए कहा कि सिख संगत पर ननकाना साहिब जाने के लिए किसी तरह की पाबंदी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस तरह नेपाल में बिना किसी वीजा के जाया जा सकता है ठीक उसी तरह सिखों को अपने गुरु के स्थान पर जाने के लिए किसी वीजा की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए।
दूसरी ओर कस्बा बरगाड़ी में पंजाब एकता पार्टी के अध्यक्ष सुखपाल सिंह खैहरा द्वारा शहीदी समागम का आयोजन किया गया। जिसमें बलजीत सिंह दादूवाल, लखा सिधाना तथा मृतक सिख नौजवानों के परिवारों ने भाग लिया।

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )