काउंट-डाउन शुरू, रात 1 बजकर 52 मिनट 54 सेकेंड पर लैंडिंग

काउंट-डाउन शुरू, रात 1 बजकर 52 मिनट 54 सेकेंड पर लैंडिंग

 

हर हिंदुस्तानी सांस रोककर उस घड़ी का इंतजार कर रहा है, जब चंद्रमा की सतह को हमारा चंद्रयान चूमेगा. चंद्रयान-2 का यह मिशन जितना अहम है, उतना ही चुनौतियों से भरा भी है, क्योंकि चांद पर लैंडिंग करना आसान नहीं है. हालांकि इसरो के वैज्ञानिक इन मुश्किलों को मुमकिन में बदलना जानते हैं. चंद्रमा की सतह पर उतरने के बाद चंद्रयान-2 चांद पर जिंदगी की संभावनाओं की तलाश करेगा. चांद पर इंसान के बसने की संभावनाओं को खोजेगा. चंद्रयान दुनिया को यह भी बताएगा कि चांद की सतह के नीचे कौन-कौन से रहस्य हैं?

रात एक बजकर 52 मिनट 54 सेकेंड पर चांद की सतह पर लैंड करेगा चंद्रयान-2. थोड़ी देर में पीएम मोदी इसरो मुख्यालय पहुंचेंगे.

चंद्रयान-2 की लाइव टेलीकास्टिंग दिखाने के लिए इसरो ने खास व्यवस्था की है. ISTRAC के अंदर जर्मन टेक्नोलॉजी के स्क्रीन लगाए गए हैं, ताकि मीडिया और स्थानीय लोगों को पूरे इंवेट की लाइव अपडेट मिलती रहे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ISTRAC सेंटर के बगल में स्थित मिशन ऑपरेशंस कॉम्प्लेक्स (MOX) से इस ऐतिहासिक घटना के गवाह बनेंगे. उनके साथ करीब 70 बच्चे भी चंद्रयान-2 की लैंडिंग को लाइव देखेंगे.

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )