उर्मिला मातोंडकर को नहीं रास आई राजनीति, 5 महीने बाद छोड़ी कांग्रेस

उर्मिला मातोंडकर को नहीं रास आई राजनीति, 5 महीने बाद छोड़ी कांग्रेस

बॉलिवुड की चर्चित ऐक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर ने कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह दिया है। 2019 के लोकसभा चुनाव से ठीक पहले उर्मिला ने कांग्रेस जॉइन की थी। लेकिन पांच महीने के अंदर ही उन्होंने कांग्रेस से अपना त्यागपत्र दे दिया है। लोकसभा चुनाव में उर्मिला ने अपनी हार का ठीकरा स्थानीय कांग्रेस नेताओं पर फोड़ा था। उर्मिला ने मुंबई उत्तर लोकसभा सीट से बतौर कांग्रेस कैंडिडेट चुनाव लड़ा था लेकिन चुनाव में उन्हें बीजेपी के नेता गोपाल शेट्टी से करारी शिकस्त मिली थी। राजनीति में एंट्री के बाद उर्मिला ने हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा था कि उत्तर मुंबई में स्लम बस्तियां अधिक हैं, इसलिए वह उनके विकास के लिए काम करना चाहेंगी। बताया जा रहा है कि उर्मिला ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को संबोधित इस्तीफे का खत 7 सितंबर को ही लिखा था।
लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले उर्मिला ने मुंबई कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा को एक गोपनीय खत लिखा था। इस खत में उन्होंने अपनी हार के लिए स्थानीय नेताओं पर उंगली उठाते हुए कमजोर रणनीति, कार्यकर्ताओं की अनदेखी और फंड की कमी को जिम्मेदार बताया था। यह गोपनीय खत लीक हो गया था।
उर्मिला ने प्रचार अभियान के दौरान मुंबई के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरूपम के करीबी सहयोगियों संदेश कोंडविल्कर और भूषण पाटिल के आचरण की आलोचना की थी। यह पत्र लोकसभा चुनावों के परिणाम आने से एक सप्ताह पहले 16 मई का था। उर्मिला ने यह गोपनीय खत लीक होने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया था। देवड़ा ने चुनावों में पार्टी की हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उर्मिला ने एक बयान में कहा था, ‘यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है कि गुप्त संवाद वाला गोपनीय पत्र सार्वजनिक कर दिया गया।’

Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )